Intereting Posts
विश्वदृष्टि विषय तलाक और मामले ऑड्री पॉट सेटलमेंट और मरम्मत कार्य का महत्व क्या निशान हमेशा हमें मजबूत बनाते हैं? नेताओं: हम नम्र नेताओं से प्यार करते हैं लेकिन मूर्खतावादी मूर्तियां वंश, व्यसन, और आघात – व्यस्क पर आधारित आनुवंशिक अंतर में लत की शोध जी-मैन और सीरियल किलर जब आप कभी “अच्छा नहीं” महसूस करते हैं तो क्या करें मुझे जानने के लिए मुझे पसंद करना है III: अचेतन विज्ञापन क्यों ग्रिट उत्तर नहीं है वासना का अभाव एक मनोरोग हालत होना चाहिए? क्या फेम मानसिक स्वास्थ्य को खतरे में डाल रहा है? नई मानसिकता सोच महत्वपूर्ण है? स्वीकृति और आभार का एक नया साल अपने आदी वयस्क बच्चे को सक्षम करने से रोकें

आनुवंशिक रूप से भिन्न रूप से पहचान की जाती है जो कि गंभीर असंतोष का कारण बन सकती है

साइंस डेली (2010-12-27) – वैज्ञानिकों ने पाया है कि मस्तिष्क रिसेप्टर अणु का एक आनुवंशिक प्रकार हिंसक आवेगपूर्ण व्यवहार में योगदान कर सकता है, जब लोग इसे लेते हैं तो शराब के प्रभाव में होते हैं।

शोधकर्ताओं ने आवेगी विषयों के डीएनए अनुक्रमित किया और डीएनए के साथ उन अनुक्रमों की तुलना में समान संख्या में गैर-आवेगी फिनिश नियंत्रण विषयों से तुलना की। उन्होंने पाया कि एचटीआर 2 बी के नाम से जाने जाने वाले एक जीन को एक ही डीएनए परिवर्तन से बेहद आवेगपूर्ण व्यवहार का अनुमान लगाया गया था। एचटीआर 2 बी मस्तिष्क में एक प्रकार के सेरोटोनिन रिसेप्टर को एनकोड करता है। सेरोटोनिन एक न्यूरोट्रांसमीटर है जो कि कई व्यवहारों को प्रभावित करता है, जिसमें असभ्यता शामिल है।

http://www.sciencedaily.com/releases/2010/12/101222131121.htm

www.stephaniesarkis.com

www.twitter.com/stephaniesarkis

www.facebook.com/stephaniesarkisphd

www.youtube.com/docadhd